Nagaur News | नागौर न्यूज़ | नागौर समाचार,Nagaur news today

मेड़ता सिटी (नागौर). एक चौदह वर्षीय किशोरी को बहला फुसलाकर भगा ले जाने और उसके साथ बलात्कार के मामले में शुक्रवार को मेड़ता के विशिष्ठ पोक्सो कोर्ट-प्रथम ने फैसला सुनाते हुए आरोपी को 20 साल के कठोर कारावास और 35 हजार रुपए के अर्थदंड से दंडित किया है। इस मामले में एफएसएल और डीएनए रिपोर्ट में बलात्कार की पुष्टि हुई थी।

आप के जिले के समाचार सबसे पहले देखने के लिए आप के जिले का ऐप्प अभी डावनलोड करे-

sikar news

मामला चितावा थानांतर्गत एक गांव का है। अप्रैल 2019 में आरोपी एक किशोरी को बहला-फुसलाकर ले गया। बाद में उसके साथ कई बार बलात्कार किया। थाने में मामला दर्ज होने के बाद पुलिस ने आरोपी राजेंद्र (28) पुत्र भंवरलाल को गिरफ्तार किया। तीन साल पुराने इस मामले में विशिष्ठ पोक्सो कोर्ट मेड़ता प्रथम के न्यायाधीश रतनलाल मूंड ने शुक्रवार को फैसला सुनाया। न्यायाधीश ने आरोपी राजेंद्र को 20 साल के कठोर कारावास व 35 हजार रुपए के अर्थदंड से दंडित किया। विशिष्ठ लोक अभियोजक सुमेर बेड़ा ने बताया कि इस मामले में अभियाेजन पक्ष की ओर से 9 गवाह, 31 दस्तावेज पेश किए गए। जबकि बचाव पक्ष ने एक दस्तावेज पेश किया।
कोर्ट ने सुनाया यह फैसला, मेडिकल साक्ष्य में हुई थी पुष्टि
कोर्ट ने आईपीसी की धारा 366 के तहत आरोपी को सात साल के कठोर कारावास और 5 हजार रुपए के अर्थदंड से दण्डित किया। इसी तरह आईपीसी की धारा 376 (3) में दोष सिद्ध होने पर 20 साल का कठोर कारावास और 20 हजार रुपए और पोक्सो अधिनियम की धारा 5 (एल)/6 के दोष सिद्ध अपराध में आरोपी को 10 साल का कठोर कारावास और 10 हजार रुपए के अर्थदंड से दंडित किया। आरोपी की कारावास की सभी सजाएं साथ चलेगी। लोक अभियोजक बेड़ा ने बताया कि डीएनए व एफएसएल रिपोर्ट में बलात्कार की पुष्टि हुई थी।