Search for:
  • Home/
  • Uncategorized/
  • ट्रम्प की सजा का ऐलान आज, पोर्न-स्टार केस में दोषी:पैसे देकर चुप कराने का आरोप; सुप्रीम कोर्ट ने 34 मामलों में दोषी पाया था

ट्रम्प की सजा का ऐलान आज, पोर्न-स्टार केस में दोषी:पैसे देकर चुप कराने का आरोप; सुप्रीम कोर्ट ने 34 मामलों में दोषी पाया था

पोर्न स्टार केस में दोषी पाए डोनाल्ड ट्रम्प को आज सजा सुनाई जाएगी। 30 मई को कोर्ट ने पोर्न स्टार स्टॉर्मी डेनियल को पैसे देकर चुप कराने और इलेक्शन कैंपेन के दौरान बिजनेस रिकॉर्ड में हेराफेरी करने के मामले में ट्रम्प को दोषी पाया गया था। न्यूयॉर्क में लगभग 6 हफ्तों तक चली सुनवाई में पूर्व राष्ट्रपति को 34 आरोपों में दोषी करार दिया गया था। यह मामला 2016 में उनके अमेरिका का राष्ट्रपति चुने जाने से पहले का है। इसके खुलासे के बाद पहली बार ऐसा हुआ था जब अमेरिकी इतिहास में पहली बार किसी प्रेसिडेंट पर आपराधिक केस चलाया गया। ट्रम्प पर कौन से 34 आरोप लगे हैं?
ट्रम्प पर गलत बिजनेस रिकॉर्ड दिखाने के मामले में 34 चार्ज लगाए गए हैं। ये सभी चार्ज 2016 के राष्ट्रपति चुनाव से पहले पोर्न स्टार स्टॉर्मी डेनियल्स को चुप रहने के लिए 1 लाख 30 हजार डॉलर करीब 1 करोड़ 7 लाख रुपए देने से जुड़े हैं।
11 चार्ज चेक साइन करने से जुड़े हैं। अन्य 11 चार्ज कोहेन के कंपनी में जमा किए गए गलत इनवॉइस से जुड़े हैं और बाकी बचे 12 चार्ज रिकॉर्ड्स में गलत जानकारी देने से जुड़े हैं। ट्रम्प के वकील माइकल कोहेन ने आरोप लगाया था कि उन्होंने ट्रम्प के कहने पर अपने पास से स्टॉर्मी को पैसे दिए थे, जिससे वो 2016 के चुनाव से पहले ट्रम्प के साथ अफेयर को लेकर कुछ न बोलें। आरोप है कि ट्रम्प ने राष्ट्रपति बनने के बाद कोहेन को पैसे वापस लौटाए। इसके लिए उन्होंने 10 महीने तक कोहेन को कई चेक दिए। उन्होंने रिकॉर्ड में इसे लीगल फीस दिखाया, जो असल में एक अपराध छिपाने के लिए किया गया पेमेंट था। आरोपों से जुड़े दस्तावेज में कहा गया है कि ट्रम्प ने लगातार न्यूयॉर्क बिजनेस रिकॉर्ड में गलत जानकारी दी, जिससे वो अपने अपराध को छिपा सकें और उन्हें चुनाव में फायदा हो। 5 अप्रैल 2023 को ट्रम्प पर मैनहैटन की कोर्ट में 34 आरोप तय किए थे। सजा मिलने में देरी भी हो सकती है
ये देखना होगा कि ट्रम्प को सजा के तौर पर जेल होगी या फिर उन्हें जुर्माना भरवा कर छोड़ दिया जाएगा। हालांकि ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक ट्रम्प को सजा मिलने में अभी कुछ और वक्त लग सकता है। दरअसल इस महीने की शुरुआत में अमेरिका की सुप्रीम कोर्ट ने डोनाल्ड ट्रम्प के पक्ष में बड़ा फैसला सुनाया था। कोर्ट ने कहा था कि ट्रम्प के राष्ट्रपति रहते हुए लिए गए आधिकारिक फैसलों पर कानूनी कार्रवाई नहीं की जा सकती है। हालांकि क्या आधिकारिक है और क्या नहीं इसे तय करने के लिए सर्वोच्च अदालत ने मामले को निचली अदालत में भेज दिया था। ऐसे में 11 जुलाई को मिलने वाली सजा को लेकर ट्रम्प के वकीलों ने न्यायाधीश से अपील की है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के मुताबिक अब पूर्व राष्ट्रपति की सजा रद्द कर दी जाए। अब न्यायाधीश मर्चेन को तय करना है कि ट्रम्प की सजा को रद्द किया जाए या नहीं। 5 पॉइंट में समझिए पोर्न स्टार को पैसे देने का पूरा मामला 1. पोर्न स्टार को पैसे देकर चुप कराने का मामला 2006 का है। तब डोनाल्ड ट्रम्प एक रियल एस्टेट कारोबारी थेे। पोर्न स्टार स्टार्मी डेनियल्स तब 27 साल की थीं और ट्रम्प 60 साल के। जुलाई 2006 में एक गोल्फ टूर्नामेंट के दौरान दोनों की मुलाकात हुई थी। 2. स्टॉर्मी ने अपनी किताब ‘फुल डिस्क्लोजर’ में इस मुलाकात का जिक्र किया है। उन्होंने बताया कि जब ट्रम्प से उनकी मुलाकात हुई, तब उनकी तीसरी पत्नी मेलेनिया ने बेटे बैरन को जन्म दिया था। बैरन को जन्म लिए महज 4 महीने ही हुए थे। 3. अपनी किताब में स्टॉर्मी ने बताया कि ट्रम्प के बॉडीगार्ड्स ने उन्हें एक नए स्टार के पेंटहाउस में डिनर के लिए बुलाया था। किताब में उन्होंने ट्रम्प के साथ बने संबंधों और उनकी शारीरिक बनावट का भी जिक्र किया था। इसके बाद दोनों के बीच अफेयर शुरू हो गया था। 4. आरोप हैं कि 2016 में राष्ट्रपति चुनाव से ठीक पहले ट्रम्प ने स्टॉर्मी को चुप रहने के लिए पैसे दिए थे। ट्रम्प के वकील ने भी इस बात को स्वीकार किया था कि उसने ट्रम्प की तरफ से पोर्न स्टार को 1 लाख 30 हजार डॉलर (करीब 1 करोड़ 7 लाख रुपए) दिए थे। 5. ट्रम्प की ओर से पोर्न स्टार को दिए गए पेमेंट का खुलासा जनवरी 2018 में वाल स्ट्रीट जर्नल ने किया था। इसी के आधार पर ट्रम्प के खिलाफ क्रिमिनल केस चलाने का फैसला किया गया। वे अमेरिका के पहले ऐसे राष्ट्रपति हैं जिनपर आपराधिक मुकदमा चलने वाला है।
ये खबर भी पढ़े… पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर चुनावी नतीजे पलटने से जुड़ा केस नहीं चलेगा, सुप्रीम कोर्ट ने राहत दी अमेरिका की सुप्रीम कोर्ट ने 1 जुलाई को कहा था कि ट्रम्प के राष्ट्रपति रहते हुए लिए गए कई फैसलों पर कानूनी कार्रवाई नहीं की जा सकती है। ट्रम्प पर आरोप था कि उन्होंने अमेरिका का राष्ट्रपति रहते हुए नवंबर 2020 के चुनाव के नतीजों को पलटने की साजिश रची थी और उनके समर्थकों ने संसद पर चढ़ाई कर दी थी। पूरी खबर पढ़ें…

Leave A Comment

All fields marked with an asterisk (*) are required