Search for:
  • Home/
  • Uncategorized/
  • हेमंत सरकार का फ्लोर टेस्ट:बहुमत के लिए 38 मतों की जरूरत, सरकार के पास 46 का आंकड़ा; कैबिनेट विस्तार आज ही

हेमंत सरकार का फ्लोर टेस्ट:बहुमत के लिए 38 मतों की जरूरत, सरकार के पास 46 का आंकड़ा; कैबिनेट विस्तार आज ही

झारखंड विधानसभा का आज विशेष सत्र चल रहा है। सीएम हेमंत सोरेन ने विश्वास मत का प्रस्ताव सदन में पेश किया। इस पर सदन में चर्चा हो रही है। इसके बाद वोटिंग होगी। विश्वास मत पर चर्चा के दौरान नेता प्रतिपक्ष अमर बाउरी ने बेरोजगारी और अपराध के मुद्दे को उठाया। उन्होंने कहा कि सरकार जिस रोजगार के दावे को लेकर सत्ता में आई, उसे पूरा नहीं किया गया। इधर सदन की कार्यवाही शुरू होने से पहले बीजेपी विधायकों प्रदर्शन किया। सदन के बाहर भाजपा के विधायक विभिन्न मांगों को लेकर नारेबाजी करते नजर आए। इससे पहले मुख्यमंत्री खुद ड्राइव कर विधानसभा पहुंचे, उनके साथ उनकी पत्नी और गांडेय विधायक कल्पना सोरेन भी सदन पहुंचीं। बता दें कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन आज चौथी बार विश्वास प्रस्ताव पेश करेंगे। इससे पहले उन्होंने सितंबर 2010 और जुलाई 2013 में बतौर उपमुख्यमंत्री और सितंबर 2022 में बतौर सीएम सदन में विश्वास प्रस्ताव जीता था। हेमंत सोरेन को विश्वास मत हासिल करने के लिए 38 मत की जरूरत है। उनके पास अभी 46 विधायक हैं। सरकार को पूरा भरोसा है कि वह आसानी से शक्ति परीक्षण में सफल होगी। इस शक्ति परीक्षण के दौरान सदन में तीन विधायक (भाजपा विधायक जेपी पटेल, झामुमो से निष्कासित लोबिन हेंब्रम और निलंबित चमरा लिंडा) किसका साथ देंगे इस पर सबकी निगाह रहेगी। आज का दिन झारखंड के लिए इसलिए भी महत्वपूर्ण है, क्योंकि आज मंत्रिमंडल का विस्तार भी हो सकता है। सदन के स्पेशल सेशन की समाप्ति के बाद सभी मंत्री शपथ ले सकते हैं। बतौर मंत्री कौन-कौन शपथ लेंगे, अभी यह स्पष्ट नहीं हो सका है। जानकारी के मुताबिक, सोमवार को तीन बजे के बाद राजभवन में सभी मंत्री शपथ लेंगे। इस बार 12वें मंत्री का भी पद भरा जाएगा।

Leave A Comment

All fields marked with an asterisk (*) are required