Search for:
  • Home/
  • Uncategorized/
  • पुरी की जगन्नाथ रथयात्रा का दूसरा दिन:सुबह 9 बजे के बाद खींचे जाएंगे जगन्नाथ, बलभद्र और सुभद्रा के रथ, आज गुंडिचा पहुंचेंगे

पुरी की जगन्नाथ रथयात्रा का दूसरा दिन:सुबह 9 बजे के बाद खींचे जाएंगे जगन्नाथ, बलभद्र और सुभद्रा के रथ, आज गुंडिचा पहुंचेंगे

53 साल बाद इस साल पुरी की रथयात्रा दो दिनों की है। सोमवार 8 जुलाई को यात्रा के दूसरे दिन मंगला आरती और भोग के बाद सुबह 9 बजे यात्रा दोबारा शुरू होगी। कल (रविवार) यात्रा का पहला दिन था। शाम 5 बजे के बाद शुरू हुई रथयात्रा सूर्यास्त के ही साथ रोक दी गई थी। जगन्नाथ मंदिर के पंचांगकर्ता डॉ. ज्योति प्रसाद के मुताबिक, इस साल आषाढ़ महीने के कृष्ण पक्ष में तिथियां घट गईं। इस कारण यात्रा दो दिन की है। इससे पहले 1971 में भी ऐसा ही हुआ था। सूर्यास्त के बाद रथ नहीं हांके जाते, इसलिए रविवार की शाम रथ रास्ते में ही रोक दिए गए थे। आज यात्रा गुंडिचा मंदिर पहुंच जाएगी। पहले दिन 5 मीटर ही आगे बढ़ा भगवान जगन्नाथ का रथ रथयात्रा के पहले दिन दिन ढलने से ठीक पहले जगन्नाथ का रथ खींचा और सिर्फ 5 मीटर आगे बढ़ाने के बाद रुक गया, क्योंकि सूर्यास्त के रथ आगे नहीं बढ़ते हैं। भीड़ में घबराहट से एक श्रद्धालु की मौत यात्रा 10 लाख से ज्यादा श्रद्धालु पंहुचे हैं। भीड़ में घबराहट की वजह से एक श्रद्धालु की मौत हो गई और भगदड़ से कई लोग घायल भी हुए। घायलों को इलाज के लिए पुरी के जिला चिकित्सालय ले जाया गया। मृतक की पहचान नहीं हो सकी है। सीएम मोहन चरण माझी ने मृतक के परिजन को 4 लाख रुपए के मुआवजे का ऐलान किया है। आषाढ़ शुक्ल दशमी तक मौसी के यहां रहेंगे भगवान आषाढ़ शुक्ल द्वितीया से दशमी तक भगवान जगन्नाथ, बलभद्र और सुभद्रा गुंडिचा मंदिर में अपनी मौसी के यहां रहते हैं। दशमी (16 जुलाई) को तीनों रथ पुरी के मुख्य मंदिर लौट आएंगे। लौटने की यात्रा को बहुड़ा यात्रा कहा जाता है। नीचे देखें यात्रा के पहले दिन की कुछ खास तस्वीरें…

Leave A Comment

All fields marked with an asterisk (*) are required