Search for:
  • Home/
  • Uncategorized/
  • भोले बाबा हाथरस हादसे के बाद पहली बार सामने आया:कहा- उपद्रवी बख्शे नहीं जाएंगे, पीड़ितों की मदद करेंगे; मुख्य आरोपी दिल्ली से गिरफ्तार

भोले बाबा हाथरस हादसे के बाद पहली बार सामने आया:कहा- उपद्रवी बख्शे नहीं जाएंगे, पीड़ितों की मदद करेंगे; मुख्य आरोपी दिल्ली से गिरफ्तार

हाथरस हादसे के बाद पहली बार भोले बाबा सामने आया। उसने न्यूज एजेंसी ANI को दिए बयान में कहा- हम 2 जुलाई की घटना के बाद से बहुत दुखी हैं। हमें और संगत को इस दुखी की घड़ी से उबरने की शक्ति दें। सभी शासन और प्रशासन पर भरोसा रखे। हमें विश्वास है कि जो भी उपद्रवी हैं, वो बख्शे नहीं जाएगें। मृतकों के परिजन और घायलों की मदद हमारी कमेटी करेगी। हाथरस हादसे पर बसपा प्रमुख मायावती का पहला बयान आया। उन्होंने कहा-बाबा भोले समेत जो भी दोषी हैं, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। इधर, हाथरस हादसे का मुख्य आरोपी देव प्रकाश मधुकर अरेस्ट कर लिया गया है। उसने दिल्ली के नजफगढ़-उत्तम नगर के बीच एक अस्पताल में पुलिस के सामने सरेंडर किया। इस बात की पुष्टि खुद भोले बाबा के वकील ने की है। यूपी पुलिस ने उस पर एक लाख इनाम घोषित किया था। वहीं, भोले बाबा के सत्संग के बाद मची भगदड़ की शुरुआती SIT जांच रिपोर्ट सामने आई है। इसमें कहा गया- भगदड़ लापरवाही और बदइंतजामी की वजह से हुई। अफसर हालात परखने में फेल हुए। जिले के प्रमुख अफसरों समेत 90 लोगों के बयान लिए गए हैं। अभी तक जो सबूत मिले हैं, उनमें आयोजक दोषी साबित होते हैं। आगरा जोन की अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक अनुपम कुलश्रेष्ठ SIT प्रमुख हैं। हाथरस भगदड़ कांड की जांच तीन सदस्यीय SIT कर रही है। विस्तृत जांच अभी जारी है, जिसकी रिपोर्ट शासन को सौंपी जाएगी। साजिश से इनकार नहीं
SIT प्रमुख अनुपम कुलश्रेष्ठ ने PTI न्यूज एजेंसी से कहा कि सत्संग में अनुमान से ज्यादा भीड़ आई। बड़ी तादाद में श्रद्धालु नए थे। बाबा को देखने के लिए आगे बढ़े, इसी दौरान भीड़ अनियंत्रित हो गई। भगदड़ लापरवाही और बदइंतजामी की वजह से हुई। कार्यक्रम की परमिशन लेते वक्त आयोजन समिति ने अपने स्तर पर आश्वासन दिया था कि सुरक्षा व्यवस्था मुस्तैद रखी जाएगी। कुलश्रेष्ठ ने कहा कि साजिश के पहलू से इनकार नहीं किया जा सकता है। दोषी लोगों पर निश्चित रूप से कानूनी कार्रवाई की जाएगी। राहुल से लिपटकर रोए पीड़ित परिवार
कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने शुक्रवार को हाथरस हादसे के पीड़ितों से मुलाकात की। परिजन उनके गले से लिपटकर रोए। राहुल ने सिर पर हाथ रखकर सांत्वना दी। हाथरस हादसे में मां को खोने वाली वाली एक बच्ची फफक-फफक कर रोने लगी तो राहुल ने उसे संभाला और गले लगाया। इस दौरान राहुल जमीन पर बैठकर पीड़ित परिवार से बातचीत करते नजर आए। कहा- बिल्कुल टेंशन न लो, हम आपके साथ हैं। आप सभी मेरा परिवार हैं। हम इस मुद्दे को संसद में उठाएंगे।

Leave A Comment

All fields marked with an asterisk (*) are required