Search for:
  • Home/
  • Uncategorized/
  • केजरीवाल के चेकअप के वक्त मौजूद नहीं रह सकेंगी सुनीता:कोर्ट बोला- कई कैदी डाइबिटीज के मरीज, उन्हें भी अटेंडेंट रखने की परमिशन नहीं

केजरीवाल के चेकअप के वक्त मौजूद नहीं रह सकेंगी सुनीता:कोर्ट बोला- कई कैदी डाइबिटीज के मरीज, उन्हें भी अटेंडेंट रखने की परमिशन नहीं

केजरीवाल को राऊज एवेन्यू कोर्ट ने शनिवार 6 जुलाई को एक और झटका दिया है। कोर्ट ने उनके मेडिकल चेकअप के दौरान उनकी पत्नी सुनीता केजरीवाल को मौजूद रहने की इजाजत देने इनकार कर दिया। हालांकि, कोर्ट ने सुनीता केजरीवाल को मेडिकल बोर्ड से मिलने की इजाजत दे दी है। साथ ही कहा है कि केजरीवाल की सभी मेडिकल रिपोर्ट भी सुनीता को दी जाएंगी। केजरीवाल ED और CBI के अलग-अलग केस में गिरफ्तार किए गए हैं। CBI ने उन्हें 26 जून को अरेस्ट किया था। वे फिलहाल तिहाड़ में हैं। उनकी कस्टडी 12 जुलाई को खत्म होगी। कोर्ट का कमेंट- CM के लिए अपवाद नहीं बना सकते
केजरीवाल की याचिका पर सुनवाई करते हुए राऊज एवेन्यु कोर्ट ने कहा कि हमारे लिए जेल नियमों के खिलाफ जाकर दिल्ली CM के लिए अपवाद बनाने का कोई कारण नहीं दिखता। खास तौर पर तब, जब जेल अधिकारियों का कहना है कि जेल में कई दूसरे कैदी भी अरविंद केजरीवाल की तरह ही उसी बीमारी का इलाज करा रहे हैं, उनमें से किसी को भी अटेंडेंट रखने की परमिशन नहीं दी गई है। स्पेशल जज कावेरी बावेजा ने कहा कि दिल्ली जेल नियम, 2018 का नियम 479 (C) विचाराधीन कैदी के साथ अटेंडेंट के रूप में परिवार के किसी सदस्य की मौजूदगी की परमिशन केवल तभी देता है, जब कैदी जेल के बाहर किसी अस्पताल में भर्ती हो। याचिका में कहा था- सुनीता के होने से ED को नुकसान नहीं
अरविंद केजरीवाल की तरफ से यह याचिका आबकारी नीति मनी लॉन्ड्रिंग मामले में दायर की गई थी। इससे पहले केजरीवाल के वकील ने कहा था कि आवेदन का विरोध करने का कोई सवाल ही नहीं है। यदि केजरीवाल की पत्नी एम्स मेडिकल बोर्ड से परामर्श के दौरान वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए माैजूद रहती हैं तो ईडी को कोई नुकसान नहीं होगा। हालांकि ED ने इस मांग का विरोध करते हुए कहा था कि हम हर मेडिकल रिकॉर्ड उपलब्ध करा रहे हैं। इसलिए चेकअप के दौरान केजरीवाल की पत्नी के मौजूद रहने की कोई जरूरत नहीं है। CBI बोली- 4 जून के बाद कुछ नया हुआ, इसलिए केजरीवाल को अरेस्ट किया
इधर, CBI ने शनिवार को अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार करने की वजह बताई। CBI के वकील एडवोकेट डीपी सिंह ने कहा, हम सुप्रीम कोर्ट को 4 जून के बाद हुए कुछ नए घटनाक्रमों के बारे में जानकारी देंगे, जिसके कारण हमें अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार करना पड़ा। जांच एजेंसी ने कहा- इस मामले में बाकी आरोपियों की जांच लगभग पूरी हो गई है। सिर्फ दिल्ली CM की भूमिका की जांच करनी है। पत्नी सुनीता का दावा- NDA के एक सांसद के बयान से केजरीवाल अरेस्ट हुए
केजरीवाल की गिरफ्तारी को लेकर CBI का बयान सामने आने के 3 घंटे बाद ही दिल्ली CM की पत्नी ने 3 मिनट 52 सेकेंड का एक वीडियो मैसेज जारी किया। जिसमें उन्होंने कहा कि, केजरीवाल को सिर्फ इसलिए अरेस्ट किया गया क्योंकि NDA के एक सांसद ने डर से बयान बदल लिया था। अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल ने शनिवार को वीडियो मैसेज जारी किया। ये वीडियो आम आदमी पार्टी के अकाउंट से शेयर किया गया। ये खबर भी पढ़ें… दिल्ली हाईकोर्ट ने CBI से सात दिन में जवाब मांगा
एक दिन पहले 5 जुलाई को केजरीवाल की जमानत याचिका पर हाईकोर्ट में सुनवाई हुई थी। जस्टिस नीना बंसल की बेंच ने शराब नीति घोटाले से जुड़े भ्रष्टाचार के केस में CBI से 7 दिन में जवाब मांगा है। कोर्ट ने दिल्ली CM से भी यह सवाल किया कि ट्रायल कोर्ट में अपील करने की जगह वे सीधे हाईकोर्ट क्यों पहुंचे। मामले की अगली सुनवाई 17 जुलाई को होगी। पढ़ें पूरी खबर… 150 वकीलों की CJI को चिट्‌ठी, लिखा- केजरीवाल की जमानत रोकना चिंताजनक दिल्ली हाईकोर्ट और जिला कोर्ट्स के 150 वकीलों ने चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया डीवाई चंद्रचूड़ को एक पत्र लिखकर दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल की जमानत रोके जाने पर चिंता जाहिर की है। वकीलों ने अपने पत्र में इसे ‘अनोखी परंपरा’ बताया है। उन्होंने कहा कि ऐसा वाकया भारतीय न्यायपालिका के इतिहास में पहले कभी नहीं देखा गया है। पढ़ें पूरी खबर…

Leave A Comment

All fields marked with an asterisk (*) are required