Search for:
  • Home/
  • Uncategorized/
  • दिल्ली में 11 की मौत, अंडरपास में मिले 3 शव:AIIMS की पार्किंग में पानी भरा; 5 राज्यों में बारिश का ऑरेंज अलर्ट

दिल्ली में 11 की मौत, अंडरपास में मिले 3 शव:AIIMS की पार्किंग में पानी भरा; 5 राज्यों में बारिश का ऑरेंज अलर्ट

दिल्ली में बीते दो दिन हुई बारिश में 11 लोगों की मौत हो गई। 29 जून को भी 6 शव बरामद किए गए। इसमें चार बच्चे, एक युवक और एक बुजुर्ग शामिल थे। वहीं, AIIMS की पार्किंग में पानी भर गया। 60 साल के बुजुर्ग का शव ओखला में अंडरपास में भरे पानी में मिला। पुलिस ने बताया था कि बीते 24 घंटे के उनका शव यहीं पर था। वहीं, आउटर नॉर्थ दिल्ली में दो लड़कों के शव अंडरपास में भरे पानी में मिले। IMD के मुताबिक, अगले 2 दिनों तक दिल्ली में बारिश की संभावना बनी रहेगी। मॉनसून ने 27 जून को उत्तराखंड में एंट्री ली थी। तेज बारिश आ असर यह हुआ कि हरिद्वार की सुखी नदी उफान पर आ गई। तेज बारिश के कारण बाढ़ जैसी स्थिति बन गई। 8 कारें बाढ़ में बह गईं। गनीमत रही कि इस कारों में कोई नहीं था। इसके अलावा निचले इलाकों में मौजूद घरों में भी पानी भर गया। इधर, अयोध्या में 23-25 जून को बारिश के बाद राम पथ धंस गया था। इस मामले में यूपी सरकार ने 6 लोगों को सस्पेंड किया है। जलभराव के कारण रामपथ की 15 गलियां और मुख्य सड़क, सहित कई घर ढंग गए थे। IMD ने रविवार (30 जून) को उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, ओडिशा, हिमाचल प्रदेश के लिए बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। विभाग के मुताबिक, 30 जून से 2 जुलाई तक हरियाणा-यूपी के बाकी के हिस्सों में मॉनसून पहुंच जाएगा। इसके बाद पूरा सेंट्रल इंडिया तेज बारिश की जद में होगा। मौसम विभाग के मुताबिक, नॉर्थईस्ट के राज्यों मेघायल, अरुणाचल, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में 30 जून से 3 जुलाई के बीच 64.5 से 204.4mm बारिश होने की संभावना है। हिमाचल में सड़कें बंद, असम में पुलिस-CRPF कैंप में बाढ़ का पानी
हिमाचल प्रदेश के कई हिस्सों में शनिवार को बारिश हुई। 30 जून से 2 जुलाई तक राज्य में भारी बारिश और आंधी के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। कांगड़ा, कुल्लू और किन्नौर जिलों में तीन सड़कों पर ट्रैफिक बंद कर दिया गया है। वहीं, असम के डिब्रूगढ़ में भारी बारिश के बाद भीषण जलभराव से जनजीवन अस्त-व्यस्त है। यहां पिछले तीन दिनों से लगातार बारिश के कारण बाढ़ की स्थिति बन गई है। सीआरपीएफ कैंप, पुलिस कैंप, लोगों के घरों में भी पानी भर गया है, रास्ते ब्लॉक हैं। बिजली सप्लाई पूरी तरह से बंद है। दिल्ली-NCR में बारिश के बाद की 2 तस्वीरें… मानसून कहां-कहां पहुंचा
दक्षिण-पश्चिम मानसून निकोबार में 19 मई को पहुंच गया था। केरल में इस बार दो दिन पहले, यानी 30 मई को ही मानसून पहुंच गया था और कई राज्यों को कवर भी कर गया। फिर 12 से 18 जून तक (6 दिन) मानसून रुका रहा। 6 जून को मानसून ने महाराष्ट्र में एंट्री ली और 11 जून को गुजरात में दाखिल हुआ। मानसून 12 जून तक केरल, कर्नाटक, गोवा, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना को पूरी तरह कवर कर चुका था। साथ ही दक्षिण महाराष्ट्र के ज्यादातर हिस्सों, दक्षिणी छत्तीसगढ़ के कुछ हिस्सों, दक्षिणी ओडिशा, उपहिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम और सभी पश्चिमोत्तर राज्यों में पहुंच गया था। 18 जून तक मानसून महाराष्ट्र के जलगांव, अमरावती, चंद्रपुर, छत्तीसगढ़ के बीजापुर, सुकमा, ओडिशा के मलकानगिरी और आंध्र प्रदेश के विजयनगरम तक पहुंचा था। हालांकि, इसके बाद मानसून रुका रहा। 21 जून को मानसून डिंडौरी के रास्ते मध्य प्रदेश पहुंचा और 23 जून को गुजरात में आगे बढ़ा। 25 जून को मानसून ने राजस्थान में एंट्री ली और मध्य प्रदेश के आधे के ज्यादा क्षेत्र को कवर कर लिया। 25 जून की ही रात मानूसन ललितपुर के रास्ते उत्तर प्रदेश में दाखिल हुआ। 26 जून को मानसून MP और UP में आगे बढ़ा। 27 जून को मानसून उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, लद्दाख और उत्तरी पंजाब में दाखिल हुआ। 28 जून को मानसून ने दिल्ली और हरियाणा में एंट्री ली। 3 जुलाई तक मानसून के दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़ और राजस्थान पूरी तरह कवर कर लेने का अनुमान है। मौसम विभाग का अनुमान है कि जून में मानसून सामान्य से कम यानी 92% लंबी अवधि के औसत (LPA) से कम रहेगा। 10 साल में छठी बार जून में बारिश सामान्य से कम
मानसून के पहले महीने में न केवल बारिश घट रही है, बल्कि गर्मी के दिन भी बढ़ रहे हैं। मौसम विभाग के मुताबिक, जून खत्म होने में 2 दिन बचे हैं और देश में अब तक सामान्य से 14% कम बारिश हुई है। ऐसा लगातार तीसरे साल हो रहा है। 10 साल में 6 बार जून में बारिश सामान्य से कम, एक बार सामान्य और तीन बार सामान्य से ज्यादा हुई है। पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के पूर्व सचिव एम. राजीवन का कहना है कि जून में मानसून 20 दिन तक पश्चिम बंगाल और दो हफ्ते तक गुजरात-महाराष्ट्र में अटका रहा। सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायर्नमेंट के मुताबिक 1988 से 2018 के दौरान 62% जिलों में जून में कम बारिश हुई। मौसम की तस्वीरें… आगे कैसा रहेगा मौसम अब राज्यों के मौसम का हाल…
मध्य प्रदेश: रीवा में आकाशीय बिजली गिरने से तीन की मौत, भोपाल में समेत कई जिलों में तेज बारिश मध्यप्रदेश में शनिवार को मानसून की स्ट्रॉन्ग एक्टविटी देखने को मिली। भोपाल समेत कई जिलों में तेज बारिश हुई। रीवा में आकाशीय बिजली गिरने से तीन लोगों की मौत हो गई। इंदौर में तेज बारिश के बाद सड़कों पर पानी भर गया। कई जगह लंबा जाम लग गया है। पूरी खबर पढ़ें… उत्तर प्रदेश: 2 तिहाई हिस्से में छाया मानसून, औरैया में सबसे ज्यादा 85.6 MM बारिश, कल प्रदेशभर में आंधी-पानी मानसून ने यूपी के दो तिहाई हिस्से को कवर कर लिया है। पश्चिमी हिस्से में बागपत, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर समेत करीब 10 जिलों में अगले 3-4 दिन में मानसून आ जाएगा। मौसम विभाग ने कल, रविवार को पूरे प्रदेश में आंधी-पानी का अलर्ट जारी किया है। बताया कि 57 जिलों में गरज-चमक के साथ अत्यधिक भारी बारिश हो सकती है। पूरी खबर पढ़ें… छत्तीसगढ़: बिलासपुर में तेज बारिश से तालाब बनी सड़कें, अब तक 172.5mm बारिश होनी चाहिए थी रायपुर, दुर्ग, बिलासपुर और बस्तर संभाग के जिलों में जमकर बादल बरस रहे हैं। बिलासपुर में तेज बारिश के बाद सरकंडा, पुराना बस स्टैंड, श्रीकांत वर्मा मार्ग, हंसा विहार, मित्र विहार कॉलोनी सहित कई इलाकों में पानी भर गया। पिछले साल 50 करोड़ की लागत से नाला निर्माण कराने के बाद भी समस्या जस की तस बनी हुई है। पूरी खबर पढ़ें… राजस्थान: दीवार गिरने से 1 की मौत, धौलपुर के बसेड़ी-बाड़ी में 5 इंच तक बरसात; जयपुर में शाम को बरसे बादल राजस्थान में मानसून की शुरुआत अच्छी हुई है। लगातार हो रही बारिश से बांधों में भी पानी आना शुरू हो गया है। मानसून आने के बाद सूखे पड़े 15 बांधों में पानी आया है। शनिवार को जयपुर, बीकानेर, भरतपुर, नागौर, धौलपुर, भीलवाड़ा, सीकर सहित कई जिलों में भारी बरसात हुई। डीग जिले के कामां थाना इलाके में दीवार गिरने से 10 साल के बच्चे की मौत हो गई। पूरी खबर पढ़ें… हरियाणा: 6 जिलों में तेज बारिश, जलभराव से गड्‌ढों में डूबकर 2 बच्चों की मौत; हिमाचल में कर्मचारियों की छुटि्टयां रद्द हरियाणा के पानीपत, सोनीपत, रोहतक, हिसार, कैथल और नारनौल में शनिवार को तेज बारिश हुई। मौसम विभाग का कहना है कि आज महेंद्रगढ़, चरखी दादरी, भिवानी, रेवाड़ी, झज्जर, हिसार में मध्यम बारिश हो सकती है। इस दौरान 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवा भी चलेगी। पूरी खबर पढ़ें…

Leave A Comment

All fields marked with an asterisk (*) are required