Search for:
  • Home/
  • Uncategorized/
  • केजरीवाल की रिमांड पर फैसला सुरक्षित:CBI ने नहीं मांगी दिल्ली CM की कस्टडी, कोर्ट में कहा- इन्हें न्यायिक हिरासत में वापस भेज दें

केजरीवाल की रिमांड पर फैसला सुरक्षित:CBI ने नहीं मांगी दिल्ली CM की कस्टडी, कोर्ट में कहा- इन्हें न्यायिक हिरासत में वापस भेज दें

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की तीन दिन की CBI की कस्टडी आज खत्म हो गई। जिसके चलते उन्हें राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया गया। CBI ने कोर्ट से केजरीवाल की रिमांड बढ़ाने की अपील नहीं की है, बल्कि उन्हें ज्यूडिशियल कस्टडी में भेजने की मांग की है। 25 जून को दिल्ली हाईकोर्ट ने केजरीवाल को जमानत देने वाले निचली अदालत के फैसले पर रोक लगा दी थी। उसी रात CBI भ्रष्टाचार मामले में पूछताछ के लिए तिहाड़ पहुंची और 26 जून की सुबह उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। पेशी के दौरान एजेंसी ने उनकी 5 दिन की कस्टडी मांगी थी, लेकिन कोर्ट ने उन्हें 3 दिन की रिमांड सौंपी थी। केजरीवाल 76 दिनों से जेल में हैं। मामले की सुनवाई जस्टिस सुनैना शर्मा की बेंच में हुई। केजरीवाल की तरफ से विक्रम चौधरी ने दलीलें रखीं। इस दौरान केजरीवाल ने कोर्ट रूम में परिवार से मिलने की परमिशन मांगी। कोर्ट ने उन्हें फैमिली से मिलने की परमिशन दे दी। साथ ही बाकी लोगों को कुछ समय के लिए कोर्ट से बाहर जाने को कहा। कोर्ट ने CBI की अपील पर फैसला सुरक्षित रख लिया है। केजरीवाल पर शराब नीति घोटाले से जुड़े 2 केस दर्ज
केजरीवाल पर दो मामले दर्ज हैं। पहला ED का, जिसमें उनके खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया है। ED ने केजरीवाल को 21 मार्च को गिरफ्तार किया था। दूसरा CBI का, जिसे शराब नीति में भ्रष्टाचार को लेकर दर्ज किया गया। इस केस में 26 जून को केजरीवाल को दोबारा गिरफ्तार किया है। यह केस दिल्ली LG वीके सक्सेना की शिकायत पर दर्ज हुआ था। दोनों मामले अलग-अलग दर्ज किए गए हैं, इसलिए इनमें गिरफ्तारी भी अलग-अलग हुई है। इधर, शनिवार को आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पार्टी ऑफिस के बाहर प्रदर्शन किया। इनकी मांग है कि केजरीवाल को रिहा किया जाए। देखिए AAP के प्रदर्शन से जुड़ी तस्वीरें… पिछली सुनवाई में बिगड़ गई थी केजरीवाल की तबीयत
26 जून को CBI ने केजरीवाल को कोर्ट में पेश किया था। सुनवाई के दौरान केजरीवाल ने कहा कि मीडिया में खबर चलाई जा रही है कि मैंने सिसोदिया पर शराब नीति के आरोप लगाए हैं। यह गलत है। मैंने कहा था कि कोई दोषी नहीं हैं। सिसोदिया भी दोषी नहीं हैं। इस पर CBI के वकील ने कहा मीडिया में जो चल रहा है वह सब सही है। सब फैक्ट्स पर आधारित है। इससे पहले सुनवाई के दौरान ही कोर्ट रूम में केजरीवाल की तबीयत बिगड़ गई थी। उनका शुगर लेवल गिरने के कारण कुछ देर के लिए उन्हें अलग रूम में शिफ्ट किया गया। हालांकि बाद में वे कोर्ट रूम में वापस लौट आए। केजरीवाल सुप्रीम कोर्ट में नई याचिका लगाएंगे
CBI केस में गिरफ्तारी के बाद केजरीवाल ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल जमानत याचिका वापस ले ली है। लोअर कोर्ट ने मनी लॉन्ड्रिंग केस में 20 जून को उन्हें जमानत दे दी थी। ED इसके खिलाफ हाईकोर्ट पहुंची। 25 जून को हाईकोर्ट ने लोअर कोर्ट का फैसला पलट दिया। इसके खिलाफ केजरीवाल ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई थी। सुप्रीम कोर्ट में मामले की सुनवाई शुरू होने पर केजरीवाल के वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि केजरीवाल को CBI ने गिरफ्तार कर लिया है। दिल्ली हाईकोर्ट ने भी 25 जून को लोअर कोर्ट के जमानत देने के आदेश को पलट दिया है। अब हम हाईकोर्ट के 25 जून के ऑर्डर के खिलाफ नई याचिका लगाएंगे। इसलिए मौजूदा याचिका को अब वापस लाना चाहते हैं। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने ED के वकील SV राजू की सहमति के बाद याचिका वापस लेने की इजाजत दे दी।

Leave A Comment

All fields marked with an asterisk (*) are required