Search for:
  • Home/
  • Uncategorized/
  • UGC-NET, CSIR-NET और NCET की नई डेट घोषित:10 जुलाई से 4 सितंबर के बीच होंगे तीनों पेपर, सभी ऑनलाइन होंगे

UGC-NET, CSIR-NET और NCET की नई डेट घोषित:10 जुलाई से 4 सितंबर के बीच होंगे तीनों पेपर, सभी ऑनलाइन होंगे

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (National Testing Agency) ने UGC-NET और CSIR-NCET परीक्षा की नई तारीखों की घोषणा की है। इनका एग्जाम 21 अगस्त से 4 सितंबर के बीच होगा। ये सभी परीक्षाएं ऑनलाइन होंगी। इससे पहले UGC-NET का टेस्ट पेन और पेपर में हुआ था। UGC NET की परीक्षा 21 अगस्त से 4 सितंबर के बीच में होने वाली है। इसके साथ-साथ ज्वाइंट CSIR-UGC NET की परीक्षा 25 जुलाई से 27 जुलाई के बीच में होगी। वहीं, NCET का एग्जाम 10 जुलाई को होगा। NTA ने 21 जून को CSIR UGC NET परीक्षा स्थगित कर दी थी। यह एग्जाम 25-27 जून के बीच होना था। परीक्षा स्थगित करने की वजह रिसोर्सेस की कमी बताई गई थी। वहीं, 19 जून को गड़बड़ियों की आशंका के बाद NTA ने UGC NET परीक्षा रद्द की थी, जबकि पेपर एक दिन पहले 18 जून को हुआ था। इससे पहले 12 जून को नेशनल कॉमन एंट्रेंस टेस्ट (NCET) कराई गई थी, जो शाम को ही रद्द कर दी गई थी। पेपर में गड़बड़ी के शक के चलते UGC-NET एग्जाम रद्द हुआ था
19 जून को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) को परीक्षा के बारे में गृह मंत्रालय के इंडियन साइबर क्राइम कोर्डिनेशन सेंटर से परीक्षा में गड़बड़ी के इनपुट्स मिले थे। शिक्षा मंत्रालय ने कहा था कि प्रथमदृष्टया यह संकेत मिला कि परीक्षा कराने में ईमानदारी नहीं बरती गई। इसके बाद शिक्षा मंत्रालय ने परीक्षा प्रक्रिया की पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए इसे रद्द करने का आदेश नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) को दिया था। केंद्र ने जांच के लिए मामला सीबीआई को सौंप दिया है। UGC NET एग्जाम देशभर की यूनिवर्सिटीज में PhD एडमिशन्स, जूनियर रिसर्च फेलोशिप यानी JRF और असिस्टेंट प्रोफेसर के पद के लिए होता है। पेन-पेपर मोड में हुआ था एग्जाम NEET एग्जाम में कंट्रोवर्सी की वजह से घिरा है NTA नेशनल टेस्टिंग एजेंसी यानी NTA पहले से ही NEET UG 2024 विवाद को लेकर आरोपों से घिरी है। 11 जून को सुप्रीम कोर्ट ने स्‍टूडेंट शिवांगी मिश्रा और 9 अन्य छात्रों की याचिका पर सुनवाई की थी। इसे रिजल्ट की घोषणा से पहले 1 जून को दायर किया गया था। कैंडिडेट्स ने ब‍िहार और राजस्‍थान के एग्‍जाम सेंटर्स पर गलत क्‍वेश्‍चन पेपर्स बंटने के चलते हुई गड़बड़ी की शिकायत की थी और परीक्षा रद्द कर SIT जांच की मांग की गई थी। हालांकि, SC ने NEET काउंसलिंग पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था और NTA को नोटिस जारी किया था। कोर्ट ने NEET UG 2024 में पेपर लीक, ग्रेस मार्किंग सहित अन्य गड़बड़ियों पर सवाल उठाए थे। जस्टिस विक्रमनाथ और जस्टिस ए. अमानुल्लाह की पीठ ने कहा था कि परीक्षा की पवित्रता प्रभावित हुई है, हमें जवाब चाहिए। नोटिस में बेंच ने केंद्र और परीक्षा कराने वाली एजेंसी NTA से 4 हफ्ते में जवाब मांगा था। NEET पेपर लीक केस में CBI ने 5 को अरेस्ट किया
NEET पेपर लीक मामले में CBI ने अब तक 5 लोगों को गिरफ्तार किया है। 28 जून को मनीष प्रकाश और आशुतोष को पटना से गिरफ्तार किया था। दोनों ने पटना के प्ले एंड लर्न स्कूल को रात भर के लिए बुक कराया था। यहां 20 से 25 कैंडिडेट्स
को आंसर रटवाया गया। यहीं से जली बुकलेट के टुकड़े भी मिले थे। 29 जून को CBI ने झारखंड के हजारीबाग से CBI ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया। इसमें ओएसिस स्कूल के प्रिंसिपल एहसान उल हक, वाइस प्रिंसिपल इम्तियाज और पत्रकार जमालुद्दीन हैं। इस मामले में 5 राज्यों से पुलिस ने 27 से ज्यादा गिरफ्तारियां की हैं। उधर, पेपर लीक के विरोध में NSUI कार्यकर्ता दिल्ली में NTA दफ्तर में घुस गए। इन्होंने NTA के गेट पर अंदर से ताला लगा दिया। NTA ने एग्जाम में सुधार के लिए सुझाव मांगे
NTA में सुधार के लिए बनी हाई लेवल कमेटी ने 27 जून से 7 जुलाई के बीच स्टूडेंट्स और पेरेंट्स से सुझाव मांगे हैं। टीचर्स और इंस्टीट्यूट्स भी अपने सुझाव दे सकते हैं। NTA की मॉनिटरिंग के लिए शिक्षा मंत्रालय ने 22 जून को कमेटी का गठन किया था। ISRO के पूर्व अध्यक्ष डॉ. के. राधाकृष्णन कमेटी के अध्यक्ष हैं। यह खबर भी पढ़ें… NEET ग्रेस मार्क्‍स विवाद: NCERT बोला- नई किताबें 4 साल से बाजार में; NTA ने कहा था- किताबों में फर्क के कारण देने पड़े ग्रेस मार्क्स NEET ग्रेस मार्क्‍स विवाद में अब NCERT ने अपना पक्ष रखते हुए NTA के उस दावे को खारिज कर दिया है, जिसमें कहा गया था कि NEET परीक्षा के सवाल आउट ऑफ सिलेबस थे। NCERT के निदेशक दिनेश प्रसाद सकलानी ने कहा कि NTA के ‘आउट ऑफ सिलेबस’ वाले बयान में कोई सच्चाई नहीं है। पूरी खबर पढ़ें… NEET केस में SC पहुंचे अलख पांडे बोले-NTA मॉडल फेल: 700 नंबरों पर भी अच्छा सरकारी कॉलेज नहीं, ‘2010 में मैं कॉलेज में था, तब भी हम पेपर लीक बहुत सुनते थे। आज 2024 में मैं शिक्षक हूं। मेरे जिंदगी के 14 साल बीत गए लेकिन पेपर लीक आज भी उसी तरह, वैसा ही होता है।’ ये कहना है PW के फाउंडर और टीचर अलख पांडे का। अलख ने NEET UG रिजल्‍ट में गड़बड़ी की शिकायत सुप्रीम कोर्ट में की है। दैनिक भास्‍कर से खास बातचीत में उन्‍होंने हमारे सवालों के जवाब दिए और इस पूरे मामले को पर्त दर पर्त खोला। पूरी खबर पढ़ें…

Leave A Comment

All fields marked with an asterisk (*) are required