Search for:
  • Home/
  • Uncategorized/
  • IMD बोला- हमारा वेदर फोरकास्ट मॉडल फेल हुआ:दिल्ली की बारिश का अनुमान नहीं लगा सका; देशभर के एयरपोर्ट्स के स्ट्रक्चर की जांच का आदेश

IMD बोला- हमारा वेदर फोरकास्ट मॉडल फेल हुआ:दिल्ली की बारिश का अनुमान नहीं लगा सका; देशभर के एयरपोर्ट्स के स्ट्रक्चर की जांच का आदेश

30 मई को केरल में एंट्री करने के बाद 28 जून तक मानसून देश के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में पहुंच गया है। दिल्ली में गुरुवार-शुक्रवार को बारिश ने 88 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया। शुक्रवार सुबह भी यहां बारिश होती रही, जिसके चलते सड़कों पर 4-5 फीट तक पानी भर गया। इस रिकॉर्ड-तोड़ बारिश को लेकर IMD ने कहा है कि वेदर मॉडल दिल्ली की बारिश के बारे में पूर्वानुमान लगाने में विफल रहा है। 26 जून को IMD ने 29 और 30 जून को दिल्ली में बहुत भारी बारिश की भी संभावना जताई गई थी, लेकिन शुक्रवार सुबह की मूसलाधार बारिश की किसी को उम्मीद नहीं थी। 28 जून के लिए सिर्फ हल्की से मध्यम बारिश और आंधी-तूफान के साथ तेज हवाओं की भविष्यवाणी की थी। वहीं सरकार ने देशभर के सभी एयरपोर्ट्स के स्ट्रक्चर की जांच करने के आदेश दिए हैं। दरअसल बारिश की वजह से इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट के टर्मिनल-1 पर पिकअप-ड्रॉप एरिया की छत और सपोर्टिंग पिलर गिर गया था। इसमें कई कारें दब गईं। कार में बैठे एक कैब ड्राइवर की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 8 लोग घायल हुए। इस हादसे के बाद एयरपोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (AAI) ने देश के सभी छोटे-बड़े एयरपोर्ट्स की स्ट्रक्चरल मजबूती की जांच करने का सर्कुलर जारी किया है। इस जांच को अगले 2-5 दिन में पूरा करने और मंत्रालय को इसकी रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया गया है। उधर, मौसम विभाग ने आज दिल्ली समेत 27 राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। इनमें हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा, चंडीगढ़, उत्तर प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, ओडिशा, अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, गोवा, मध्य महाराष्ट्र, पंजाब, दिल्ली, छत्तीसगढ़, बिहार, गुजरात, केरल, तमिलनाडु, पुडुचेरी और तटीय कर्नाटक शामिल हैं। दिल्ली-NCR में शुक्रवार को हुए जलभराव की तस्वीरें… मानसून कहां-कहां पहुंचा
दक्षिण-पश्चिम मानसून निकोबार में 19 मई को पहुंच गया था। केरल में इस बार दो दिन पहले, यानी 30 मई को ही मानसून पहुंच गया था और कई राज्यों को कवर भी कर गया। फिर 12 से 18 जून तक (6 दिन) मानसून रुका रहा। 6 जून को मानसून ने महाराष्ट्र में एंट्री ली और 11 जून को गुजरात में दाखिल हुआ। मानसून 12 जून तक केरल, कर्नाटक, गोवा, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना को पूरी तरह कवर कर चुका था। साथ ही दक्षिण महाराष्ट्र के ज्यादातर हिस्सों, दक्षिणी छत्तीसगढ़ के कुछ हिस्सों, दक्षिणी ओडिशा, उपहिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम और सभी पश्चिमोत्तर राज्यों में पहुंच गया था। 18 जून तक मानसून महाराष्ट्र के जलगांव, अमरावती, चंद्रपुर, छत्तीसगढ़ के बीजापुर, सुकमा, ओडिशा के मलकानगिरी और आंध्र प्रदेश के विजयनगरम तक पहुंचा था। हालांकि, इसके बाद मानसून रुका रहा। 21 जून को मानसून डिंडौरी के रास्ते मध्य प्रदेश पहुंचा और 23 जून को गुजरात में आगे बढ़ा। 25 जून को मानसून ने राजस्थान में एंट्री ली और मध्य प्रदेश के आधे के ज्यादा क्षेत्र को कवर कर लिया। 25 जून की ही रात मानूसन ललितपुर के रास्ते उत्तर प्रदेश में दाखिल हुआ। 26 जून को मानसून MP और UP में आगे बढ़ा। 27 जून को मानसून उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, लद्दाख और उत्तरी पंजाब में दाखिल हुआ। 28 जून को मानसून ने दिल्ली और हरियाणा में एंट्री ली। 3 जुलाई तक मानसून के दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़ और राजस्थान पूरी तरह कवर कर लेने का अनुमान है। मौसम विभाग का अनुमान है कि जून में मानसून सामान्य से कम यानी 92% लंबी अवधि के औसत (LPA) से कम रहेगा। 10 साल में छठी बार जून में बारिश सामान्य से कम
मानसून के पहले महीने में न केवल बारिश घट रही है, बल्कि गर्मी के दिन भी बढ़ रहे हैं। मौसम विभाग के मुताबिक, जून खत्म होने में 2 दिन बचे हैं और देश में अब तक सामान्य से 14% कम बारिश हुई है। ऐसा लगातार तीसरे साल हो रहा है। 10 साल में 6 बार जून में बारिश सामान्य से कम, एक बार सामान्य और तीन बार सामान्य से ज्यादा हुई है। पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के पूर्व सचिव एम. राजीवन का कहना है कि जून में मानसून 20 दिन तक पश्चिम बंगाल और दो हफ्ते तक गुजरात-महाराष्ट्र में अटका रहा। सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायर्नमेंट के मुताबिक 1988 से 2018 के दौरान 62% जिलों में जून में कम बारिश हुई। देश में हीटवेव के दिन खत्म हुए
मौसम विभाग के मुताबिक देश में हीटवेव के दिन खत्म हो गए हैं। शुक्रवार को राजस्थान का जैसलमेर 41.4 डिग्री तापमान के साथ देश में सबसे गर्म रहा। मौसम की तस्वीरें… आगे कैसा रहेगा मौसम राज्यों में मौसम का हाल पढ़िए… मध्य प्रदेश: भोपाल-ग्वालियर समेत 11 जिलों में बारिश का अलर्ट, 7 दिन में पूरे MP पर छाया ​​​​​​मानसून मानसून ने 7 दिन के अंदर पूरे मध्यप्रदेश को कवर कर लिया है। गुरुवार को यह ग्वालियर, भिंड, मुरैना समेत 6 जिलों में भी पहुंच गया। इस दिन भोपाल, ग्वालियर, धार, उज्जैन समेत 15 से ज्यादा जिलों में बारिश हुई। तापमान में भी गिरावट आई है। धार में दिन-रात के टेम्प्रेचर में सिर्फ 1 डिग्री सेल्सियस का ही अंतर रहा। पूरी खबर पढ़ें… उत्तर प्रदेश: प्रदेशभर में आंधी-बारिश का अलर्ट, हाथरस में तेज बरसात, कोतवाली में घुटनों तक पानी भरा बुंदेलखंड में ललितपुर के रास्ते एंट्री लेने वाला दक्षिण-पश्चिम मानसून आगे बढ़ा है। मानसून ने गुरुवार को बुंदेलखंड के ज्यादातर हिस्सों को कवर कर लिया है। बंगाल की खाड़ी वाली मानसून की शाखा पूर्वी यूपी के महाराजगंज समेत तराई के कुछ हिस्सों में आगे बढ़ी है। 4-5 दिनों में मानसून पूरे प्रदेश को कवर कर लेगा। पूरी खबर पढ़ें… बिहार: पटना समेत 19 जिलों में बारिश का अलर्ट, तेज हवा और बिजली गिरने की भी आशंका बिहार में मानसून एक्टिव है। गुरुवार को पटना के साथ-साथ दरभंगा, बेतिया, मोतिहारी, नवादा समेत कई जिलों में झमाझम बारिश हुई। वहीं, नेपाल में बारिश के कारण तराई वाले इलाके की कई नदियों में जलस्तर बढ़ गया है। इधर, किशनगंज में मरिया नदी पर बना 70 मीटर लंबा पुल धंस गया। पूरी खबर पढ़ें… राजस्थान: 8 जिलों में आज भारी बारिश का अलर्ट, बिजली गिरने की भी चेतावनी; 14 जिलों में मानसून की एंट्री राजस्थान के दक्षिण-पूर्वी हिस्सों के बाद गुरुवार को पश्चिमी हिस्से में भी मानसून ने दस्तक दे दी। पाली, जालोर, बाड़मेर, जोधपुर में मानसून की एंट्री के साथ ही जमकर बारिश शुरू हो गई। राजधानी जयपुर में गुरुवार देर रात से शुरू हुआ बारिश का दौर आज सुबह भी जारी है। शहर में रुक-रुककर बारिश हो रही है। पूरी खबर पढ़ें… हिमाचल-पंजाब में मानसून की एंट्री, लुधियाना में बारिश में करंट लगने से 3 की मौत हरियाणा और पंजाब में गुरुवार को मानसून की एंट्री हो गई है। मानसून उत्तराखंड से होता हुए सिरमौर जिले से हिमाचल में दाखिल हुआ। इसके बाद हिमाचल को कवर करते हुए पठानकोट के रास्ते पंजाब में एंट्री कर गया। मौसम विभाग के अनुसार, कल तक मानसून हरियाणा और चंडीगढ़ में भी एंट्री कर सकता है। पूरी खबर पढ़ें… हरियाणा: राज्य में आज पहुंचेगा मानसून, 9 जिलों में बारिश और तेज हवाएं चलेंगी; पंजाब में हिमाचल के रास्ते घुसा हरियाणा में आज मानसून के दाखिल होने की संभावना है। इसके के साथ ही प्रदेश के 9 जिलों में गरज-चमक के साथ बारिश की संभावना है। यहां तेज हवाएं भी चलेंगी, जिससे लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। मौसम विभाग ने चंडीगढ़ व हरियाणा के अलावा पंजाब व हिमाचल प्रदेश में भी बारिश का अलर्ट जारी किया है। पूरी खबर पढ़ें…

Leave A Comment

All fields marked with an asterisk (*) are required