Search for:
  • Home/
  • Uncategorized/
  • 10 दिन पानी पीकर जिंदा रहा जंगल में खोया शख्स:अमेरिका में 300 लोगों की टीम ने ढूंढा; जूतों में पानी इकट्ठा कर पीता था

10 दिन पानी पीकर जिंदा रहा जंगल में खोया शख्स:अमेरिका में 300 लोगों की टीम ने ढूंढा; जूतों में पानी इकट्ठा कर पीता था

अमेरिका के कैलिफोर्निया में 10 दिनों से पहाड़ों में लापता एक शख्स मिल गया है। अमेरिकी न्यूज चैनल CNN के मुताबिक, 34 साल के लुकास मैकक्लिश 11 जून को सांता क्रूज पहाड़ों में सैर करने निकले थे। पहाड़ देखने की धुन में वे 3 घंटे तक पैदल चलते चले गए। जब उन्होंने वापस लौटने चाहा तो जंगल का रास्ता भूल गए। मैकक्लिश के पास कुछ जामुन और करीब 4 लीटर पानी था। वह इसी के सहारे 10 दिनों तक जिंदा रहे। कैलिफोर्निया पुलिस के मुताबिक, गुरुवार को ड्रोन ने मैकक्लिश को बीच जंगल में ढूंढ निकाला। वे कीचड़ से लथपथ और काफी कमजोर हालत में मिले। परिवार के सदस्यों के मुताबिक पहले उन्होंने मैकक्लिश को उनके घर के आस-पास ढूंढा पर जब 5 दिन बाद 16 जून को फादर्स डे पर भी नहीं मिले तो स्थानीय पुलिस में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई। इसके बाद पुलिस ने लुकास मैकक्लिश को ढूंढने के लिए 300 लोगों का स्पेशल बचाव अभियान चलाया। पुलिस और फॉरेस्ट विभाग ने उन्हें ढूंढ़ने के लिए 2600 स्क्वायर किलोमीटर जंगल को ड्रोन से छान मारा। जंगल में इस हालत में मिले मैकक्लिश… जगंल के बीच मिले मैकक्लिश
बचाव अभियान की मदद करने वाले कैल फायर सैन मेटो ने बताया कि कई बार जंगल के बीच में मैकक्लिश की बचाओ-बचाओ की आवाज सुनाई देता थी। लेकिन कुछ देर बाद वो बंद हो जाती थी, जिससे वे उलझन में पड़ जाते थे। जंगल में उनकी आवाज पेड़ों के टकराने से गूंजती थी, जिससे उनका पता लगाने में देर हो गई। अमेरिकी न्यूज चैनल ABC को दिए इंटरव्यू में मैकक्लिश ने बताया कि वे 10 दिनों तक एक जोड़ी पैंट, जूते और एक टोपी के सहारे ही जंगल में मौसम से जूझ रहे थे। उन्होंने कहा कि जूते के सहारे पानी इकट्ठा कर पीते थे। इसी के सहारे वो जिंदा रहे। जंगल में आग लगने की वजह से रास्ता भूला
मैकक्लिश ने कहा कि कुछ समय पहले जंगल में आग लगी थी, जिस कारण उन्हें जो पहले रास्ता था वे उससे भूल गए। अभी उन्हें थकान की समस्या है। शरीर में दर्द भी हो रहा है। दोनों हाथों और कंधे पर चोटें भी आई हैं। अब वो कुछ समय तक जंगल नहीं जाएंगे। उन्होंने बताया कि मैंने जंगल में एक साल तक चलने जितना पैदल चल लिया है।

Leave A Comment

All fields marked with an asterisk (*) are required