सीकर प्रदेश में आयोजित होगा 21-दिवसीय टीबी मुक्त राजस्थान अभियान

सीकर प्रदेश में आयोजित होगा 21-दिवसीय टीबी मुक्त राजस्थान अभियान

आयुष्मान भारत हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर्स पर 24 मार्च से 13 अप्रैल तक संचालित होंगी टीबी के प्रति जनजागरूकता गतिविधियां

सीकर, 17 मार्च। प्रदेश में टीबी यानि क्षय रोग के प्रति जनजागरूकता विकसित करने और इसके उन्मूलन के लिए 21-दिवसीय टीबी मुक्त राजस्थान अभियान चलाया जाएगा। विशेषकर आयुष्मान भारत हेल्थ एंड वैलनेस केंद्रों के क्षेत्रों में विश्व क्षय रोग दिवस के उपलक्ष्य पर 24 मार्च से 13 अप्रैल तक विभिन्न जनजागरूकता गतिविधियों के साथ ही टीबी की जांच, उपचार, परामर्श सेवाओं सहित अनेक चिकित्सा प्रबन्धन के कार्य संचालित किये जायेंगे।
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री परसादी लाल मीणा ने बताया कि टीबी जानलेवा रोग है और समय पर उपचार शुरू नहीं होने पर रोगी का जीवन बचाना कठिन हो जाता है। उन्होंने बताया टीबी मुक्त राजस्थान अभियान चलाकर टीबी संक्रमण से ग्रसित लोगों की पहचान की जाएगी और उनका सम्पूर्ण निःशुल्क उपचार सुनिश्चित किया जाएगा।
स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि इस अभियान में टीबी रोगियों के लिये उपलब्ध उपचार एवं जांच सुविधाऐं और अधिक सुदृढ़ की जाएंगी। इसके साथ ही टीबी रोगियों की बैंक खाते की डिटेल निक्षय पोर्टल पर अपलोड की जाएंगी, सभी टीबी रोगियों को निक्षय पोषण योजना के तहत निर्धारित राशि का भुगतान उनके बैंक खाते में किया जाएगा, टीबी चैंपियन की ट्रेनिंग कराई जाएगी। उन्होंने बताया कि टीबी चैंपियन टीबी उन्मूलन कार्यक्रम के तहत समाज मे टीबी रोग के प्रति फैली भ्रांतियों को दूर करने में मुख्य भूमिका निभा सकते हैं। अभियान के दौरान लोगों के लिये समझाइश सत्र आयोजित होंगे, समुदाय की भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी और टीबी जागरूकता हेतु अन्य विभिन्न गतिविधियां जैसे ग्राम सभा, जन आरोग्य समिति बैठक, टीबी के रोगियों हेतु वैलनेस सत्र, पोस्टर प्रतियोगिता आदि गतिविधियां आयोजित की जाएगी।
मिशन निदेशक एनएचएम डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी ने गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये स्वास्थ्य अधिकारियों से जानकारी ली एवं आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।